ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी||ताजुशरिया के पहले उर्स का विरोध शुरू, हिंदूवादी संगठन नई परंपरा बता रहे हैं

710
ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी
ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी

ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी||ताजुशरिया के पहले उर्स का विरोध शुरू, हिंदूवादी संगठन नई परंपरा बता रहे हैं

 

ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी||ताजुशरिया के पहले उर्स का विरोध शुरू, हिंदूवादी संगठन नई परंपरा बता रहे हैंTajushariya ursdate,Tajushariya urs,Tajushariya Up,
Tajushariya Urdu,Tajushariya Update

 

ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी||ताजुशरिया के पहले उर्स का विरोध शुरू, हिंदूवादी संगठन नई परंपरा बता रहे हैं

 

ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी
ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी

 

अस्सलामुअलैकुम इन हिंदी सलाम की अहमियत और उसके आदाब Assalamu Alaikum ||meaning ||in English

ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी

 

अस्सलाम वालेकुम आज हम अपने प्यारे ताजुश्शरिया के बारे में बात करने वाले हैं क्योंकि बहुत जल्द ताजुशरिया का उर्स मुबारक आने वाला है 9 और 10 जुलाई को उर्स के कार्यक्रम होंगे यह ताजुशरिया का पहला सालाना उर्स है इसकी पूरी जानकारी के लिए आप कभी इस पोस्ट को पढ़ें.

सुन्नी बरेलवी मुसलमानों के सबसे बड़े मजहबी रहनुमा ताजुश्शरिया मुफ्ती अख्तर रजा खां उर्फ अजहरी मियां का दो रोजा उर्स का आगाज नौ जुलाई से होगा। अजहरी मेहमान खाने पर जमात के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व उर्स प्रभारी सलमान मियां व अन्य पदाधिकारियों की बैठक हुई। आज उर्स के कार्यक्रम का पोस्टर जारी कर दिया गया। दुनिया भर से उलेमा और मुरीद उर्स मे शिरकत करने के लिये दरगाह आला हजरत व दरगाह ताजुश्शरिया पर आएंगे। उर्स प्रभारी सलमान मियां ने बताया कि सात जुलाई से जायरीन की आमद होना शुरु हो जायेगी। आठ से 10 जुलाई तक शहर भर से चादरों के जुलूस दरगाह पर हाजरी देंगे। सभी कार्यक्रम दरगाह ताजुश्शरिया के सज्जादानशीन व मुफ्ती असजद रजा खां की सदारत में होंगे।

Muslim personal law board kya hai

उर्स के कार्यक्रम

 

उर्स का आगाज नौ जुलाई से नमाज-ए-फज्र कुरानख्वानी व नात-व-मनकवत से होगा। नमाज-ए-जोहर परचम कुशाई शाहबाद स्थित मिलन शादी हाल के पास सैयद कैफी के निवास से होगी। कुतुबखाना से बिहारीपुर ढाल होते हुए दरगाह ताजुश्शरिया पर हुजूर असजद रजा खां के हाथों पेश होगा। इसके अलावा आजमनगर और सैलानी से भी परचम निकाला जाएगा। बाद नमाज़-ए-इशा इस्लामिया ग्राउंड में देर रात तक उलमा-ए-इकराम की तकरीर hoगी। रात एक बजकर 40 मिनट पर सरकार हुजूर मुफ्ती-ए-आजम हिन्द के कुल की रस्म अदा की जायेगी। 10 जुलाई को बाद नमाज़-ए-फजर कुरानख्वनी वा नात व मनकवत दरगाह ताजुशारिया पर होगी। बाद नमाज़-ए-जोहर इस्लामिया ग्राउंड में उलमा-ए-किराम की तकरीर होगी और बाद नमाज़-ए-असर हुजूर ताजुशारिया के कुल की रस्म उलमा-ए-किराम व मशाईख-ए-किराम की मौजूदगी मे अदा की जाएगी। मुफ्ती मुहम्मद असजद रजा खां की खुसूसी दुआ के साथ दो रोजा उर्स का समापन होगा। नौ व 10 जुलाई को उर्स स्थल के आसपास व दरगाह ताजुश्शरिया पर जायरीन के लिये लंगर-ए-आम का भी एहतमाम किया गया है।

बैठक में ये रहें मौजूद

बैठक में समरान खान, मोईन , डॉक्टर मेहंदी हसन, शमीम खां, सुल्तानी, अब्दुल्लाह रजा, शमीम अहमद, दानिश रजा, वसीम हुसैन, शाइब उद्दीन, मुहम्मद रजा, नवेद अजहरी, दन्नी अन्सारी, रेहान रजा, सैयद कैफी, सैयद सैफ रजवी, मौलाना निजाम आदि मौजूद रहे।

ताजुशरिया के पहले उर्स का विरोध शुरू, हिंदूवादी संगठन नई परंपरा बता रहे हैं

 

ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी
ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी

 

इस्लामिया मैदान में 9 और 10 जुलाई को होने वाले ताजुशरिया अजहरी मियां के पहले उर्स का विरोध शुरू हो गया है। हिंदूवादी संगठनों शिव सेना और हिन्दू युवा वाहिनी ने इसे नई परम्परा बताते हुए अजहरी मियां के उर्स का विरोध किया है। दोनों संगठनों ने आयोजन पर रोक लगाने की मांग का ज्ञापन जिला प्रशासन को दिया है। हिन्दू युवा वाहिनी का कहना है कि शिक्षण संस्थानों में इस तरह के आयोजन से छात्रों की पढ़ाई में व्यवधान पड़ता है साथ ही कानून व्यवस्था भी प्रभावित होती है इस लिए नई परम्परा न पड़ने दी जाए।

 

bakra eid kab ki hai|| Bakra eid date||bakra eid about

 

अजहरी मियां के पहले उर्स में शामिल होने के लिए देश ही नहीं विदेशों से भी जायरीन की आमद बरेली में होगी। उर्स की तैयारियों में इंतजामिया कमेटी जुटी हुई है। सात जुलाई से जायरीन की आमद होना शुरु हो जायेगी। आठ से 10 जुलाई तक शहर भर से चादरों के जुलूस दरगाह पर हाजरी देंगे। सभी कार्यक्रम दरगाह ताजुशरिया के सज्जादानशीन व मुफ्ती असजद रजा खां की सदारत में होंगे।

 

उर्स के कार्यक्रम इस्लामिया मैदान में आयोजित किए जाएंगे। जिसकी तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं। उर्स में शामिल होने वाले जायरीनों को कोई परेशानी न हो इसके लिए उर्स कमेटी के सदस्यों के नम्बर भी सार्वजनिक किए गए है।किसी भी परेशानी की स्थिति में जायरीन इन हेल्पलाइन नम्बरों पर फोन कर सकते हैं।

 

Agar aapko meri post ताजुशरिया के उर्स का आगाज़ 9 जुलाई से, पोस्टर हुआ जारी||ताजुशरिया के पहले उर्स का विरोध शुरू, हिंदूवादी संगठन नई परंपरा बता रहे हैं Pasand Aaye To please Se Jyada Se Jyada share kare Hamari post ko like karte hain Unka bahut bahut Shukriya.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here